निवेशकों के लिए भरपूर संभावनाओं से युक्त उत्तराखंड: सीएम हरीश रावत

174

cm-photo-01-dt-22-september-2016देहरादून:  उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने गुरुवार को ताज होटल, नई दिल्ली में आयोजित ‘ट्रांसफॉर्मिग इंडिया’ थीम पर आधारित निवेशकों व निवेशितों की वार्षिक बैठक ‘सेकंड ग्लोबल  इन्वेस्टर इंडिया फोरम’ में प्रतिभाग किया। इस दौरान सीएम ने उत्तराखंड में निवेश के लिए अनुकूल वातावरण के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि उत्तराखंड राज्य को डीआईपीपी केंद्र सरकार द्वारा इज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिग में अग्रणी राज्य घोषित किया गया है। सीएम ने कहा कि हाल ही के ऐसौचेम सर्वे के मुताबिक राज्य की औद्योगिक क्षेत्र में वार्षिक वृद्धि दर  16.5 %  तक वर्ष 2004-05 से 2014-15 तक औद्योगिक विकास वृद्धि दर 12.3 प्रतिशत दर्ज की गई है। भारत की आर्थिकी में भी राज्य का योगदान वर्ष 2004-05 से 2014-15 में 0.8 प्रतिशत तक बढ़ा है।।शिक्षा के क्षेत्र में राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिग फ्रेमवर्क के अनुसार आईआईएम काशीपुर को भारत रेंकिग 2016 में प्रबन्धन श्रेणी ए में स्थान प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि एनसीएईआर 2016 सर्वे के अनुसार उत्तराखंड राज्य व्यापारिक गतिविधियों के लिए सबसे पारदर्शी राज्यों में से एक है। नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में राज्य में असीम सम्भावनाएं है राज्य का मुख्य फोकस लघु जल विद्युत परियोजनाओं के विकास पर है। तनकुल, भीलांगना-द्वितीय तथा पेनगाड कुछ मुख्य परियोजनाए है। राज्य सरकार द्वारा निवेशक अनुकूल नीतियों का निर्माण किया गया है। जिसमें प्रमुख है मेगा टेक्सटाइल पार्क नीति 2014, मेगा औद्योगिक तथा निवेशक नीति 2015, स्टार्ट अप नीति 2016 तथा आईटी नीति 2016, एमएसएमई नीति 2015 आदि। उत्तराखण्ड सरकार ने स्टार्टअप पोलिसी 2016 के अर्न्तगत शैक्षिक संस्थाओं से निकलने वाले छात्रों को उद्यम स्थापित करने लिए एक मंच प्रदान किया है। सीएम ने कहा कि नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में राज्य में व्यापक सम्भावनाएं हैं। सूबे का मुख्य फोकस लघु जल विद्युत परियोजनाओं के विकास पर है। प्रदेश सरकार ने स्टार्ट- अप पॉलिसी के अंतर्गत शैक्षिक संस्थाओं से निकलने वाले छात्रों को उद्यम स्थापित करने लिए एक मंच प्रदान किया है। इस अवसर पर वित्त व कॉरपोरेट मामलों के केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल, छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह, ऐसौचेम के अध्यक्ष सुनील कनौरिया, एसौचेम के महासचिव डी एस रावत, ऐपेक के सीनियर एमडी हिसाओ नाकाजिमा आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here