दौलत की चकाचौंध ने दोस्ती को किया शर्मसार।

342
रूड़की;   एक बड़ा खुलासा सामने आया है बता दें कि बीते रोज रूड़की से अधिवक्ता पुष्पेन्द्र सैनी लापता हो गया था जो कि पुलिस के सामने एक बड़ी गुत्थी बनी हुई थी, जिसका अब पर्दाफाश हो चुका है। बता दें कि पुलिस ने अधिवक्ता की हत्या के मामले में पांच शातिर युवकों को गिरफ्तार किया है, जबकि पुलिस को एक आरोपी की अभी सरगर्मी से तलाश है।
पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर अधिवक्ता की स्कूटी भी बरामद कर ली है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक हैरान करने वाली बात सामने आई है कि अधिवक्ता को उसके ही साथ काम करने वाले दो साथियों ने शराब पिलाकर गंगनहर में धक्का देकर मौत के घाट उतार दिया। हालांकि अभी तक अधिवक्ता का शव पुलिस गंगनहर से बरामद नहीं कर पायी है।
पुलिस गोतोखोरों की मदद से शव की तलाश गंगनहर में कर रही है। अधिवक्ता की हत्या की तमाम साजिश उसके साथ काम करने वाले एमबीए के छात्र सौरभ उर्फ चिंटू ने रची थी। अधिवक्ता की हत्या के लिए सौरभ उर्फ चिंटू ने ही मेरठ के दो युवकों को तीन लाख की सुपारी दी थी, यहाँ तक की आरोपियों द्वारा हत्या का सबूत मिटाने के लिए अधिवक्ता की स्कूटी की नंबर पलेट को भी बदल डाला था। पुलिस के मुताबिक सौरभ उर्फ चिंटू और श्याम कुमार अधिवक्ता के तमाम कारोबार पर अपना बर्चस्व स्थापित करना चाहता था। जिसके बाद उसने हत्या की योजना बनायी।
पुलिस पर अधिवक्ता का सुराग लगाने का बड़ा दबाव था इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अधिवक्ता की तलाश को लेकर सेंकड़ों लोग हर रोज कोतवाली गंगनहर में डेरा डाले रहते थे। दरअसल मर्तक अधिवक्ता पुष्पेन्द्र सैनी बिजनेस को प्राथमिकता देता था इसीलिए वो अपने दो कर्मचारियों के झांसे में आसानी से आ गया और गंगनहर किनारे बैठकर अपने साथियों के साथ भरपूर शराब पीने लगा, लेकिन जब वो नशे में हो गया तो उसे साथियों द्वारा नहर में धक्का दे दिया गया। जब पुलिस अधिवक्ता की हत्या का खुलासा कर रही थी तो कोतवाली में अधिवक्ता के परिजनों के साथ बड़ी संख्या में ग्रामीण भी मौजूद थे जो आरोपियों को रिमांड पर लेने की पुलिस अधिकारियों से मांग कर रहे थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here