एक ऐसी तस्वीर जिस भी घर में लगी उस घर में दिखा तवाही का मंजर,वजह जानकर दंग रह जायेंगे!

270

इस दुनिया में ऐसे कितने ही चित्रकार उभर कर सामने आये जिन्होंने अपने चित्रों के माध्यम से दुनिया में हलचल मचा दी थी और कितनी ही विचारधारों को बदल दिया. आज हम ऐसे ही चित्रकार की बात कर रहे है जिसने अपनी पेंटिंग से खूब सोहरत तो पाई ही साथ ही साथ बदनामी भी खूब उठाई.

जियोवनी ब्रागोलिन ने 1985 में एक रोते हुए बच्चे की एक जीवंत तस्वीर बनाई थी जिसका नाम रखा गया ‘द क्राइंग ब्‍वॉय’ । ये पेटिंग इतनी जानदार थी कि इसे ब्रागोलिन की सबसे सर्वश्रेष्ठ कृति में स्थान मिला । उस समय क्राइंग ब्वॉय की पेटिंग को लोगों ने बेहद पसंद किया. जिससे प्रेरित होकर ब्रागोलिन ने इसकी पूरी श्रृंखला तैयार कर दी।  पेंटिंग की इतनी मांग हुई कि इसकी 50,000 तक प्रतियां बनाई गईं, जो कि बिक भी गई। ऐसे में इस पेटिंग ने ब्रागोलिन की शोहरत दूर दूर तक फैला दी लेकिन फिर इसी पेटिंग ने जो तबाही मचाई उससे ब्रागोलिन को बदनामी भी मिली।

कहा जाने लगा कि जो भी इस पेंटिंग को अपने घर में खरीद कर लगाता है उसका विनाश होना तय है.  ऐसे में अखबारों में इस तस्वीर की खबरे आने लगी और सबसे बड़ी खबर तब आई जब एक फायरब्रिगेड के कर्मचारी ने इससे जुड़ा एक बयान दिया।

अग्नि समन अधिकारी ने अपने बयान में बताया कि वह आग बुझाने लगभग 50,000 घरों में गया और सभी में उसने एक बात सामान्य पाई कि घर का सारा सामान जल जाता था लेकिन वह तस्वीर हमेशा सुरक्षित ही रहती थी.

इस खबर के सामने आते ही उस तस्वीर को शापित माना जाने लगा .. लोग अपने घरों से उस तस्वीर को निकाल फेंकने लगें और बाद में एक मीडिया संस्था के कहने पर ही हैलोवीन त्‍योहार पर ओयोजित बोन फायर में इस पेंटिंग की हजारों प्रतियां जला दी गईं। जिसके बाद आगजनी के हादसों में भी कमी आने लगी। इस तरह हमेशा के लिए ये  क्राइंग ब्‍वॉय पेंटिंग शापित मान ली गई।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here