क्यों लामबंद हुए आयुध निर्माणियों के कर्मचारी !!

60

देहरादून। रक्षा संस्थानों में अखिल भारतीय वेज बचाओ दिवस का आयोजन किया गया। इस आयोजन के लिए रक्षा क्षेत्र के तीनो फेडरेशन एकजुट थे। आईएनटीयूसी द्वारा मांगों को लेकर आयुध निर्माणी के मुख्य द्वार पर एक दिवसीय धरना दिया गया।
रक्षा संस्थानों के तीनों संगठनों का कहना है कि आयुध निर्माणियों के नॉन कोर घोषित करने के फैसले को वापस लिया जाए। रक्षा क्षेत्र में प्रारंभ मौको मॉडल वापस लिया जाए तथा ठेकेदारों के आउट सोर्ससिंग पर रोक लगाई जाए। कर्मचारी संगठनों का कहना है कि करीब 32 हजार कर्मचारियों को सरप्लस घोषित करने का जो फैसला किया गया है उसे वापस लिया जाए और निर्मार्णियों के उत्पादन में कटौती बंद की जाए।
जानकारी देते हुये यूनियन के प्रवक्ता ने बताया कि नये उत्पादों को सेना द्वारा अस्वीकार करने की परंपरा पर भी अंकुश जरूरी है। इन समस्याओं को लेकर सभी कर्मचारी एकजुट है और यदि इन पर रोक न लगी तो आयुद्ध निर्मार्णियों के काम में काफी समस्या आएगी जिसकी जिम्मेदारी केवल और केवल सरकार की होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here