केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रदर्शकारियों पर उठाये सवाल, देेश पहले ही आजाद है तो क्यों लगाए जा रहे हैं आजादी के नारे?

1100

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आजादी के नारे लगाने वाले प्रदर्शकारियों पर सवाल उठाते हुए कहा कि देश तो पहले ही आजाद है। उन्होंने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 19 (1) के तहत देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का प्रयोग किया जाता है, लेकिन यह अनुच्छेद हमें इस तरह की आजादी पर समुचित प्रतिबंध की भी याद दिलाता है। प्रसाद ने ट्वीट किया, ‘हम आजकल कुछ जगहों पर ‘आजादी-आजादी’ के नारे सुन रहे हैं। किस से आजादी? लोग खुलकर सरकार की आलोचना करते हैं। वह किसी को चुन सकते हैं या किसी को नकार सकते हैं। उनमें से कुछ विश्वविद्यालयों का घेराव और पुलिस के खिलाफ नाराजगी भी जता चुके हैं। फिर किससे आजादी?’भाजपा के वरिष्ठ नेता ने ‘टाइम्स नाउ समिट’ को संबोधित करते हुए कहा, ‘आपकी आजादी का आलम यह है कि आप अपने ही विश्वविद्यालय का घेराव करते हैं और पुलिस से भी लड़ते हैं। फिर आपको किससे आजादी चाहिए? इस सवाल पर बहस होनी चाहिए।’

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here